दुनिया का सबसे बड़ा एवं सबसे घातक भूकंप

हर साल कई मिलियन भूकंप आते हैं लेकिन वे परिमाण में  छोटे होते हैं। एक वर्ष में औसतन 19 भूकंपों में 7.0 या उससे अधिक रिक्टर स्केल(Richter Scale)  की तीव्रता होती है।गौरतलब है की रिचटर स्केल का प्रयोग किसी भी भूकंप की तीब्रता को नापने में होता है. 
                      रिकॉर्ड पर सबसे बड़ा भूकंप 1960 में चिली के वल्दिविया, 9.5 में आया था। इस भूकंप में लगभग 5000 लोगों की जान चली गई थी।

परिमाण में सबसे बड़ा भूकंप

9.5 वाल्डिविया, चिली 22 मई, 1960
9.2 सुमात्रा, इंडोनेशिया 26 दिसंबर, 2004
9.2 प्रिंस विलियम साउंड, अलास्का मार 28, 1964
9.0 कामचटका, सोवियत संघ 4 नवंबर, 1952
9.0 कैस्केडिया ज़ोन (CA, OR, WA) 26 जनवरी, 1700

दुनिया के सबसे घातक भूकंप जरूरी नहीं कि वे उच्चतम परिमाण वाले हों बल्कि वे बड़े भूकंप जो घनी आबादी वाले क्षेत्रों में आते हैं। वर्ष 1556 में शानक्सी, चीन में रिकॉर्ड किए गए सबसे घातक भूकंप में 830,000 लोग मारे गए थे।
यह पोर्ट-ए-प्रिंस, हैती में 2010 में आए दूसरे सबसे घातक भूकंप से दो गुना से अधिक है जिसमें 316,000 लोग मारे गए थे।1

Comments

Popular posts from this blog

दुनिया का सबसे बड़ा फूल

दुनिया के शीर्ष 10 सबसे लंबे पुल (World's top 10 longest bridges)

कॉमनवेल्थ (Commonwealth) क्या है ?