Posts

Showing posts from June, 2020

शकुंतला देवी (Shakuntala Devi ) की जीवनी (बायोग्राफी)

Image
शकुंतला देवी एक भारतीय लेखिका और मानसिक गणिका (mental calculator)  थीं। 5 अक्टूबर, 1950 को लेस्ली मिशेल ( Leslie Mitchell)  द्वारा होस्ट किए गए बीबीसी (BBC) चैनल के एक शो में हिस्सा लेने  के बाद उन्हें 'ह्यूमन कंप्यूटर(Human Computer) नाम दिया गया था। साक्षात्कार में, शकुंतला देवी को एक जटिल गणित की समस्या दी गई जिसे उन्होंने सेकंडो  में हल कर दिया, लेकिन उनका जवाब  चैनल के पास जो उत्तर  था उससे मिलान नहीं हुआ ।परन्तु   क्रॉस-चेकिंग के बाद लेस्ली मिशेल ने घोषणा की कि शकुंतला देवी द्वारा दिया गया उत्तर सही था । और तभी से मानव कंप्यूटर का नाम शकुंतला देवी का पर्याय बन गया।                     शकुंतला देवी का जन्म भारत के बेंगलुरु में 4 नवंबर 1929 को एक रूढ़िवादी कन्नड़ ब्राह्मण परिवार में हुआ था। उसके पिता एक सर्कस के कलाकार थे, जिन्होंने अपने पारंपरिक व्यवसाय ज्योतिषी   को आगे बढ़ाने  के बजाय अपरंपरागत पेशे को चुना ।                  एक किस्से के मुताबिक, जब वह तीन साल की थी, तब शकुंतला देवी   ने अपने पिता के साथ कार्ड गेम खेलना शुरू किया। उसके पिता ने महसूस किया कि छोटी लड़की हर दि

दुनिया के शीर्ष 10 सबसे लंबे पुल (World's top 10 longest bridges)

Image
दुनिया के शीर्ष 10 सबसे लंबे पुल यहां आपको इन पुलो  से संबंधित  कई रोचक जानकारियाँ  मिलेगी, जो आपके लिए काफी ज्ञानवर्धक होगी।   तो फिर हम इस अद्भुत विषय पर एक नज़र डालते हैं। 10. मनचैक दलदल पुल (Manchak Swamp Bridge)                                                                                         (~wikipedia)                                                                     अमेरिका में बना यह पुल 36.710 किलोमीटर लंबा है।इस पुल का उपयोग संयुक्त राज्य अमेरिका में अंतर्राष्ट्रीय और अंतरराज्यीय राजमार्ग के रूप में किया जाता है, जो शिकागो (Chicago) को अमेरिका के लुइसियाना (Louisiana)  से जोड़ता है। इस पुल का निर्माण वर्ष 1979 में पूरा हुआ था। इस पुल का मुख्य उद्देश्य लुइसियाना और शिकागो के बीच कम से कम समय में दूरी तय करना था। कुल लागत 160 मिलियन डॉलर यानी लगभग 110 करोड़ रुपये थी। यह पुल  पोंटचार्टेन लेक (Pontcharten Lake)  स्थित पर है। इस ब्रिज पर कोई टोल टैक्स नहीं लगता है। इसका नाम दुनिया के सबसे ऊंचे 'टोल फ्री'(toll free) ब्रिज के रूप में दर्ज है। 9.  वुहान मेट्रो ब्रिज

दुनिया का सबसे लोगप्रिये फल के बारे के कुछ रोचक तथ्य

Image
टमाटर दुनिया का सबसे लोकप्रिय फल है। जी है आप में से बहुत से लोगो को ये सुन कर थोड़ी हैरानी होगी परन्तु , बैंगन और आलू  की तरह ही , वनस्पति रूप  से (botanically)  टमाटर  भी एक  फल है, सब्जी नहीं। प्रतिवर्ष दुनिया भर में  100 मिलियन टन से अधिक टमाटर का उत्पादन होता है।                            टमाटर के बाद दूसरा सबसे लोकप्रिय फल केला है । सेब तीसरा सबसे लोकप्रिय , फिर संतरे  और तरबूज  हैं।                                                                                                      (~pexel.com)                                                             टमाटर के बारे में कुछ रोचक तथ्य जानते है. .......  Central and South America  के एज़्टेक और इंकास (Aztec and Incas ) लोगो द्वारा 700 ईस्वी में पहली बार टमाटर की खेती की गई थी।                     टमाटर का वैज्ञानिक नाम  लाइकोपर्सिकॉन लाइकोपर्सिकम ( Lycopersicon lycopersicum) है।"। दुनियाभर में  टमाटर की कुल 10,000 से अधिक प्रजातियां  हैं।                                    टमाटर विटामिन ए और सी (vitamins A and C) और फाइबर (

भारत की नदियाँ (Rivers of India in Hindi) के बारे में कुछ रोचक तथ्य

भारत एक कृषि प्रधान देश है इसलिए नदियाँ हमारे राष्ट्र की जीवन रेखा हैं। भारत में जीवन प्रमुख रूप से कृषि पर निर्भर है और भारतीय कृषि का अधिकांश भाग नदियों पर निर्भर है।  भारत की नदी प्रणाली (river systems) को उनकी उत्पत्ति के आधार पर चार समूहों में वर्गीकृत किया जा सकता है . 1. हिमालयी नदियाँ   Himalayan Rivers 2. डेक्कन (प्रायद्वीपीय) नदियाँ  Deccan (Peninsular) Rivers 3. तटीय नदियाँ और        Coastal rivers 4. अंतर्देशीय जल निकासी की नदियाँ   Inland drainage rivers    अधिकांश भारतीय नदियाँ बंगाल ( Bay of Bengal ) की खाड़ी में बहती हैं लेकिन कुछ नर्मदा, ताप्ती और पेरियार (Arabian Sea) अरब सागर में बहती हैं। राजस्थान में बहने वाली दो प्रमुख नदियाँ - लूनी और बनास में अंतर्देशीय जल निकासी  (inland drainage),है, अर्थात, वे समुद्र में  नहीं मिलती  हैं, बल्कि  रेतों में खो जाती हैं। गोदावरी दक्षिणी भारत की सबसे लंबी नदी है इस नदी को दक्षिण गंगा के नाम से भी जाना जाता है। दक्षिण भारत का कुंभ मेला नासिक में इसी  नदी के तट पर आयोजित किया जाता है। दक्षिण भारत की एकमात्र बारहमासी नदी है। बारहमास

कॉमनवेल्थ (Commonwealth) क्या है ?

Image
कॉमनवेल्थ (Commonwealth) का नाम सुनते बहुत से लोग को सिर्फ कोमोंवेअल्थ गेम्स का ध्यान आता है।आइये  इस आर्टिकल में हम कॉमनवेल्थ गेम्स आयोजित करने वाली संघ  कॉमनवेल्थ ऑफ नेशंस (the Commonwealth of Nations) के बारे में संछिप्त में जानते है।           कॉमनवेल्थ क्या है ?                          कॉमनवेल्थ ( Commonwealth), जिसे कॉमनवेल्थ ऑफ नेशंस (the Commonwealth of Nations) भी कहा जाता है, संप्रभु राज्यों का एक स्वतंत्र संघ जिसमें यूनाइटेड किंगडम और ब्रिटिश साम्राज्य के पूर्व क्षेत्र (जो वर्तमान में 54 देश है ) शामिल है। ये सरे देश ब्रिटिश सम्राट को उनके संघ के प्रतीकात्मक प्रमुख के रूप में स्वीकार करते हैं।       HISTORY ( इतिहास )                 इसकी स्थापना वर्ष 1931 में की गए थी। प्रारम्भ में ब्रिटैन को लेकर इसमें कुल पांच देश थे यूनाइटेड किंगडम,कनाडा ,ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, दक्षिण अफ्रीका (United Kingdom, Canada , Australia,New Zealand ,South Africa). वर्ष  1947 में भारत और पाकिस्तान भी इस संघ के सदस्य बने।                                                                    परन्तु

दुनिया का सबसे बड़ा फूल

Image
                                                     दुनियाभर में तक़रीबन २ लाख फूलो की प्रजातियां है जिसमे से जुलाब ,गेंदा,चमेली सूरजमुखी इत्यादि  भारत में प्रमुख है। आप लोगो को इन फूलो के बारे में पहले से ही बहुत कुछ  पता होगा  ।            परन्तु यहाँ हम जानेगे एक ऐसे फूल के बारे जो दुनिया में सबसे विशालतन है और जिसका वजन 7 किलो है।                         दुनिया का सबसे बड़ा फूल का नाम है   रैफलेसिया अर्नोल्डी ( Rafflesia arnoldi ) ।                   7 किलो (15 पाउंड) वजन वाला यह फूल  केवल इंडोनेशिया(Indonesia) के सुमात्रा और बोर्नियो (Sumatra and Borneo)   द्वीपों पर पाया जाता  है। इसकी पंखुड़ियां 1.6 फीट (1 मीटर) लंबी और 1 इंच (2,5 सेमी) मोटी हैं।                                                                         Rafflesia arnoldi (   रैफलेसिया अर्नोल्डी)                                             रैफ्लेशियाम(Rafflesia) की कुल 16 प्रजातियां हैं, जो इंडोनेशिया के अलावा सुमात्रा, मलेशिया, फिलीपींस और बोर्नियो में पाई जाती हैं। प्रजाति का नाम प्रकृतिवादी (naturalist) सर स्टैम

दुनिया में सबसे अधिक बोली जाने वाली भाषाएँ

आप में से बहुत से लोगो को पता होगा की दुनिया में सबसे ज्यादा इस्तेमाल की जाने वाली भाषा अंग्रेजी है।जिसे लगभग 113 करोड़ लोग इस्तेमाल करते है।  दूसरी  सबसे इस्तेमाल की जाने वाली भाषा है  Mandarin जो चीन में बोली है।  चुकि चीन की आबादी दुनिया में सबसे ज्यादा है इसलिए इसका दूसरे स्थान पे रहना लाजमी है। इसी हिसाब से भारत में सबसे बोली जाने वाली भाषा हिंदी दुनिया में तीसरे स्थान पे है।वही एक और भारतीय भाषा बंगाली सातमें स्थान पे है।  आइये देखते है इन भाषाओ के अलावा और कौन कौन सी प्रमुख भाषाएँ है जो सबसे  जयदा इस्तेमाल हो रही  है ।   1 अंग्रेजी 1,132 मिलियन - इंडो-यूरोपियन  2 मंदारिन चीनी 1,117 मिलियन - चीन-तिब्बती 3 हिंदी 615 मिलियन - इंडो-यूरोपियन 4 स्पेनिश 534 मिलियन - इंडो-यूरोपियन 5 फ्रांसीसी 280 मिलियन - इंडो-यूरोपियन 6  अरबी 274 मिलियन - एफ्रो-एशियाई 7 बंगाली 265 मिलियन - इंडो-यूरोपियन 8 रूसी 258 मिलियन - इंडो-यूरोपीय 9 पुर्तगाली 234 मिलियन - इंडो-यूरोपियन 10 इंडोनेशियाई 199 मिलियन - ऑस्ट्रोनियन                          चलिए ये तो वो भाषाओ की सूचि हो गए जो सबसे ज्यादा इस्तेमाल होते है।

दुनिया का सबसे बड़ा एवं सबसे घातक भूकंप

हर साल कई मिलियन भूकंप आते हैं लेकिन वे परिमाण में  छोटे होते हैं। एक वर्ष में औसतन 19 भूकंपों में 7.0 या उससे अधिक रिक्टर स्केल(Richter Scale)  की तीव्रता होती है।गौरतलब है की रिचटर स्केल का प्रयोग किसी भी भूकंप की तीब्रता को नापने में होता है.                        रिकॉर्ड पर सबसे बड़ा भूकंप 1960 में चिली के वल्दिविया, 9.5 में आया था। इस भूकंप में लगभग 5000 लोगों की जान चली गई थी। परिमाण में सबसे बड़ा भूकंप 9.5 वाल्डिविया, चिली 22 मई, 1960 9.2 सुमात्रा, इंडोनेशिया 26 दिसंबर, 2004 9.2 प्रिंस विलियम साउंड, अलास्का मार 28, 1964 9.0 कामचटका, सोवियत संघ 4 नवंबर, 1952 9.0 कैस्केडिया ज़ोन (CA, OR, WA) 26 जनवरी, 1700 दुनिया के सबसे घातक भूकंप जरूरी नहीं कि वे उच्चतम परिमाण वाले हों बल्कि वे बड़े भूकंप जो घनी आबादी वाले क्षेत्रों में आते हैं। वर्ष 1556 में शानक्सी, चीन में रिकॉर्ड किए गए सबसे घातक भूकंप में 830,000 लोग मारे गए थे। यह पोर्ट-ए-प्रिंस, हैती में 2010 में आए दूसरे सबसे घातक भूकंप से दो गुना से अधिक है जिसमें 316,000 लोग मारे गए थे।1